TAX ON FIXED DEPOSIT IN HINDI

By | August 14, 2018

TAX ON FIXED DEPOSIT (FD) IN HINDI

नमस्ते दोस्तों मेरा नाम नवनीत है और आपका हमारी वेबसाइट में बहुत-बहुत स्वागत है दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल FD यानि Fixed Deposit के ऊपर किस प्रकार टैक्स लगता है इसके बारे में हम आज जानेगे |

दोस्तों आज के समय में हर किसी को पैसो की जरूत और हर कोई आपने पैसे को बढ़ाना चाहता है ऐसे में Fixed Deposit एक ऐसा निवेश माध्यम है जिससे आप आपने पैसों को लगातार आपने पैसो में लगातार वृद्धि कर सकते है और यह निवेश सबसे Save निवेश है इसमें आपका 100% Save रहता है और आज के समय में यह निवेश सबसे प्रसिद्ध निवेश का विकल्प है इसे में बहुत से लोग जानना चाहेंगे की इस पर टैक्स लगता है या नहीं और आप यदि Fixed Deposit करते है तो क्या इसकी जानकारी इनकमटैक्स विभाग को यदि होती हे या नहीं ऐसे कई प्रकार के सवालो आप आपके मन में आते होंगे तो  आज हम आपको सरे सवालों का जबाब इस आर्टिकल में देने जा रहे है
Tax On Fixed Deposit (FD)   
Fixed Deposit  बचत का एक लोकप्रिय रूप है। यह आपको उस अवधि के लिए अपने पैसे को सुरक्षित रखते हुए धारा 80 सी कर छूट की पूरी सीमा का फायदा उठाने की अनुमति देता है। आप ब्याज के रूप में आय की उचित मात्रा भी कमा सकते हैं। लेकिन यह आय कर योग्य है, शायद ही कभी निवेशक ब्याज आय पर कर चुकाने के बारे में सोचते हैं। यह लेख एफडी ब्याज आय पर आयकर कब और कैसे भुगतान करेगा इस पर कवर करेगा।
 किसी भी बैंक में यदि आप को  Fixed Deposit  से एक साल में 10,000 अधिक ब्याज मिला है और यदि आप का पैन कार्ड बैंक के खाते के साथ जुड़ा है तो उस पर बैंक द्वारा 10% टीडीएस (TDS) कटा जायेगा और आपका पैन कार्ड बैंक के पास नहीं है तो इस पर बैंक द्वारा 20% टीडीएस (TDS) काटा जाता यदि आप चाहें तो अपना इन्कमटैक्स रिटर्न भर कर आपने टीडीएस (TDS) का रिफंड भी ले सकते है जो  बैंक द्वारा कटा गया है |
और यदि आप की FD 10,00000 से अधिक की है तो इसकी जानकारी बैंक द्वारा आयकर विभाग को दी जायेगी  और यदि आप ने आपने इन्कमटैक्स रिटर्न में इसको नहीं दिखया तो आयकर विभाग आप पर कार्यवाही कर सकता है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *